Fat loss tips in hindi

बहुत सारे लोग मोटापे से परेशान है और अपना बढ़ता फैट देखकर अत्यंत दुखी रहते हैं। इससे तंग आ कर वे अक्सर तेजी से फैट घटाने के तरीके ढूंढने लगते हैं। आज मैं आपको ऐसे ही कुछ तरीके बताऊंगा जो ना सिर्फ आपको फैट कम करने में मदद करेगा बल्कि पालन करने में भी सबसे आसान हैं।

फैट घटाने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि वजन बढ़ता क्यों है। दरअसल इसके पीछे एक कारण है, जब हमारे शरीर में एनर्जी बैलेंस गड़बड़ा जाता है तब हमारा वजन बढ़ता या घटता है। एनेजी बलांस होता है जब आपका कैलोरीज़ इंटेक (जो एनर्जी आप खाने से लेते हैं) और कैलोरीज़ आउटेक (जो एनर्जी आप कार्य करने में इस्तेमाल करते हैं) बराबर होती है तो आपका वजन समान रहता है। लेकिन अगर कैलोरीज़ इंटेक आपके कैलोरीज़ आउटेक से ज्यादा होता है तो आपका वजन घटने लगता है। इसके पीछे बहुत लंबा प्रोसेस है जिसके बारे में पूरी जानकारी आपको हमारी eBook में मिलेगी।

eBook:- Basic Fitness Guide

कैलोरीज़ इंबेलेंस दो कारणों से होता है एक अधिक कैलोरीज़ खाने से और दूसरा कम कार्य करने से। अर्थात अगर आप पहले से अधिक खाना या अधिक कैलोरीज़ वाला खाना खा रहे हैं और आपका कार्य या कैलोरीज़ आउटेक पहले जैसा ही है तो आपका वजन बढ़ेगा। या आपका कैलोरीज़ इंटेक पहले जैसा ही है परन्तु आप अब पहले जितना  कैलोरीज़ आउटेक या कार्य नहीं कर रहे हैं तो भी आपका वजन बढ़ेगा। दूसरी परिस्थिति में वजन तब ही बढ़ता है जब आप पहले बहुत ज्यादा कैलोरीज़ खाते हो और कार्य करते हो और फिर आप कार्य करना कम क दें।

वजह कोई भी ही वजन बढ़ता है और आपको समस्या करता है, वजन बढ़ने से कई बीमारियां और समस्याएं हमारे शरीर में होने लगती है साथ ही यह हमारे आत्मविश्वास को गिरा देता है। वजन कम करना बहुत जरूरी होता है सेहत और जीवन के लिए, यह आपकी सेहत अच्छी करता है परन्तु आपके जीवन में भी नया जोश भरता है जो आपको नई उचाईयों पर पहुंचाता है।

फैट घटाने के तरीके

जिम में आपको अकसर ऐसा लोग मिलेंगे जो आपको कहेंगे की ये एक्सरसाइज करने से फैट घटेगा या यह खाने से आपका वजन एक हफ्ते में कम हो जाएगा। ऐसा नहीं है आपका वजन/फैट बढ़ना या घटना दोनों एक प्रोसेस है और इन दोनों में समय लगता है। हालांकि कुछ ऐसे तरीके है जिनसे आपको थोड़ा जल्दी परिणाम मिलता है और इस आर्टिकल में मैं आपको वहीं तरीके बताने वाला हूं।

कैलोरीज़ डेफिसिट डायट

वैसे तो मैं इस चीज का बहुत समर्थन नहीं करता परन्तु एक हद तक मैं इस बात से सहमत हूं। वजन बढ़ने के पीछे भी ज्यादा कैलोरीज़ का हाथ होता है तो इसे घटाने के लिए भी अतिरिक्त कैलोरीज़ को कम करना जरूरी होता है। जिसका अर्थ है आपको एक संतुलित और कम कैलोरीज़ वाली डायट लेनी चाहिए। हालांकि कई लोग बहुत ही कम खाना शुरू कर देते हैं जो की गलत है, कैलोरीज़ को बहुत अधिक कम करना भी सही नहीं होता और ऐसा करने से कमजोरी और चक्कर आ सकते हैं। आपको हर हफ्ते सिर्फ 100-200 कैलोरीज़ कम करनी होती है वह भी तब तक जब तक आपका शरीर एक सही वजन तक नहीं पहुंच जाता, ऐसा करने से आपका शरीर ताकत नहीं खोता और उससे धीरे-धीरे कम खाने की आदत होने लगती है।

एक्सरसाइज करना

मैं एक्सरसाइज अधिक करने के पक्ष में रहता हूं जिसका कारण है कि आपको खाना कम करने की आवश्यकता कम पड़ती है। खाना कम करने से अधिक कमजोरी और मसल मास में गिरावट होती है जो हमारे शरीर के लिए अच्छा नहीं होता। समय के साथ इसके कई नुकसान होता है, लेकिन एक्सरसाइज अधिक करने से ऐसा करने की जरूरत नहीं पड़ती और आपका मसल मास भी घटने की बजाय बढ़ने लगता है। और यह ना सिर्फ आपको फैट से मुक्ति देता है बल्कि मसल मास बढ़ने से आपका शरीर ताकतवर और अच्छा दिखने लगता है। फैट और मसल एक दूसरे के विपरित होता है, अगर फैट बढ़ेगा तो मसल घटने लगते हैं और अगर मसल बढ़ते है तो फैट घटने लगता है।

एक्सरसाइज में कार्डियो और वेट ट्रेनिंग प्रमुख होते है को आपको वजन कम करने में सहायता करेंगे। रोजाना एक घंटा जिम में कसरत करने से आपको वजन कम करने में बहुत आसानी होगी।

कम शक्कर या स्टार्च खाना

कार्ब्स वैसे तो हमारे लिए बहुत जरूरी है लेकिन अधिक मात्रा में सिम्पल कार्ब्स लेने से आपके शरीर में फैट बढ़ सकता है। दरअसल जब आपके शरीर में सिम्पल कार्ब्स अधिक हो जाते हैं तो वह आपके अंगो में जमा हो जाते है ताकि जब आपके शरीर को ऊर्जा की जरूरत होगी तो वह उपयोग में आएंगे। ऐसा करते रहने से एक समय बात वह बहुत अधिक मात्रा में हो जाते हैं जिसके कारण आपके शरीर का फैट और वजन बढ़ जाता है। रोजाना एक नियमित मात्रा में ही आपको सिम्पल कार्ब्स का इस्तेमाल करना चाहिए।

प्रोटीन अधिक खाएं

प्रोटीन मसल बनाने के लिए उपयोग होता है। और प्रोटीन की खास बात होती है कि यह शरीर में सिर्फ 24 घंटे तक ही रहता है उसके बाद यह शरीर से बाहर निकल जाता है। प्रोटीन खाने से आपके मसल बढ़ने लगते है और साथ ही आपका फैट भी घटता है। प्रोटीन खाने से कम भूख लगती है और जंक फूड खाने का मन भी नहीं करता। इसके साथ ही आपके शरीर के हार्मोन्स को बढ़ाने में भी प्रोटीन मदद करती है और इन्हीं हार्मोन्स से फैट भी घटता है।

अधिक सब्जियां खाएं

हरी सब्जियों में कई जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते है साथ ही यह वजन घटाने में भी सहायक होती है। सब्जियों में पाए जाने न्यूट्रिएंट्स हमारे शरीर की कई गतिविधियों के लिए जरूरी होते हैं और यह हमारी सेहत को भी बेहतर करते हैं। इसके अलावा हड्डियों, आंखो, दिमाग, त्वचा और अंदरुनी अंगो के लिए भी यह जरूरी होती है।

सब्जियों की खास बात यह भी होती है कि आप एक बारी में बहुत अधिक सब्जी नहीं खा सकते जिसके कारण अधिक कैलोरीज़ खाना आपके लिए मुमकिन नहीं हो पाता।

ज्यादा पानी पिएं

आपने अकसर सुना होगा कि अधिक पानी पीने से फैट कम होता है। जी हां यह सच है और इसका कारण है कि फैट हमारे शरीर के हिस्सों में और मसल टिशूज के बीच में तेल के रूप में जमा होता है। तेल को हटाना किसी और पदार्थ के लिए मुमकिन नहीं है, लेकिन जैसा आपने देखा होगा कि जब तेल और पानी को साथ मिलाया जाता है तो तेल अकसर पानी के ऊपर जमा हो जाता है। पानी की यही खासियत हमारे शरीर में भी कार्य करती है और ऐसा करने से वह मसल टिशूज के बीच का तेल हट जाता है। जब जगह खाली हो जाती है तो अन्य न्यूट्रिएंट्स जैसे प्रोटीन उसकी जगह लेते हैं और आपके मसल बढ़ने लगते हैं। पानी इसके अलावा भी एक और कार्य करता है और वह है न्यूट्रिएंट्स को पूरे शरीर में पहुंचने का इसलिए रोजाना कम से कम 3 लीटर पानी हमारे शरीर के लिए आवश्यक होता है।

यह कुछ तरीके है जिन्हे नियमित रूप से करने पर आपके फैट में गिरावट आएगी और आपको वजन कम करने में भी मदद मिलेगी। इसके अलावा अगर आप फिटनेस के बेसिक्स या संपूर्ण जानकारी जानना चाहते हैं तो हमारी eBook को आज ही पढ़ें, उसमे आपको वजन बढ़ाने से लेकर घटाने तक, ट्रेनिंग, न्यूट्रीशन इत्यादि की पूरी जानकारी है। आर्टिकल अच्छा लगा तो इससे अपने मित्रो के साथ शेयर करें और फिटनेस के और आर्टिकल्स के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करें। आपके विचार या प्रश्न है तो कमेंट में लिखे आपकी सहायता करने में हमें बहुत खुशी होगी।

https://howtodoexercise.com/at-loss-vs-weight-loss-in-hindi/


%d bloggers like this: